Friendship Shayari in Hindi 2021 | हिंदी में 1000+ दोस्ती शायरी इमेजेस

दोस्ती हर वक्त मिलने से नही होती,
दोस्ती तो दिल से है होती

आसमान छूने की कोशीश कर ज़मीन को न ढूंढना,
ज़िन्दगी जीने की कोशिश कर खुशियों को न ढूंढना,
ए मेरे दोस्त ज़िन्दगी में हर पल मुस्कुरा कर जियो,
ज़िन्दगी जीने के लिए किसी वजह को न ढूंढना

क्यूँ ज़िन्दगी में ज़ख्म पे मरहम बन जाते हैं दोस्त,
क्यूँ ज़िन्दगी में साथ निभाते हैं दोस्त,
उनसे न खून का होता है न रिवाज़ का होता है रिश्ता,
क्यूँ फिर भी दूर तक साथ चलते हैं दोस्त

ज़िन्दगी के रस्ते पर कितने मोड़ आते है,
कुछ मुस्कान बन कर दिल में खिलते है,
कुछ ज़िन्दगी में ऐसे दोस्त मिलते हैं,
कोई साथ दे न दे लेकिन वो साथ चलते हैं

जब साले गुजर जाये तो कौनसा समा होगा,
हम सभी दोस्तों में न जाने कौन कहां होगा,
और जब मिलना होगा तो बस ख्वाबो में,
जैसे सूखे गुलाब मिलते है किताबों में


हर मर्ज को दवा की जरूरत नही होती है,
कुछ दर्द को दोस्तों के साथ मुस्कुराने की ज़रूरत होती है

ज़िन्दगी कभी धुप तो कभी छाव है,
हमारे होठो पर बस आपका ही नाम है,
मेरे दोस्त हमसे कुछ मांग कर तो देखो,
मेरे हाथो पर मेरी जान है

हम उस रब से गुज़ारिश करते हैं,
तेरी दोस्ती की ख्वाइश करते हैं,
हर जन्म में तेरे जैसा ही दोस्त मिले,
तू मिले तो सही वरना ज़िन्दगी ही न मिले

दोस्ती का एहसान कुछ इस तरह मैं अदा करूँगा,
तू भूल जा मुझे पर मैं हर वक्त तुझे याद करूँगा,
दोस्ती से मैंने बस यही सीखा है,
खुद से पहले मैं तेरे लिए दुआ करूँगा

रास्तो की क्या सीमा है ये किसे पता,
मंजिल क्या हो ये किसे पता,
दोस्ती का हर पल बहुत अनमोल होता है,
कब एक दूसरे से जुदा हो जाये ये किसे पता


तू सामने नही पर तेरी तस्बीर बना सकता हूँ,
तेरा क्या हाल है ये तुझसे मिले बिना बता सकता हूँ,
हम तो अपनी दोस्ती पे इतना भरोसा रखते है,
तेरी आँख का आँसू अपनी आखँ से गिरा सकता हूँ

ज़िन्दगी गुज़र जाए पर दोस्ती कम ना हों,
याद हमें रखना चाहें पास हम ना हों,
कयामत तक चकता रहे ये प्यारा सा सफर,
दुआ करे कि कभी ये रिश्ता खतम ना हो

तारों में अकेले चांद जगमगाता है,
मुश्किलों में अकेले इंसान डगमगाता है,
काटों से मत घबराना मेरे दोस्त,
क्योंकि काटों में भी गुलाब मुस्कुराता है

कुछ गुजरे हुए कल बहुत याद आते हैं,
कुछ यादो से आँखों में आँसू भर आते है,
वो सुबह शाम रंगीन हो जाती है,
जब यारो की यारी के लम्हे याद आते हैं

हम पर विश्वाश करने की कोशिश करना,
हम वेबजह किसी का भी दिल दुखाया नही करते,
कुछ ऐसा था आप में जो हमे बहुत अच्छा लगा,
वरना हम भी यूँ ही किसी को दोस्त बनाया नही करते


सच्चे दोस्त को ढूंढना बहुत मुश्किल है,
लेकिन उसे पाकर खोना और भी मुश्किल है,
और उस दोस्त को भूल जाना नामुमकिन है

जिसे दिल की कलम ओर मोहब्बत की इंक कहते है,
जिसे लमहों की किताब ओर यादों का कवर कहते है,
यही वो सब्जेक्ट है जिसे friendship कहते है

हर नमी में तेरी कमी तो रहेगी,
आँखे कुछ नम तो रहेगी,
ज़िन्दगी को हम कितना भी सवांरेगे,
हमेंशा आप जैसे दोस्त की कमी रहेगी

दोस्त का प्यार दुआ से कम नही होता,
दोस्त दूर हो फिर भी कोई गम नही होता,
प्यार में अक्सर कम हो जाती है दोस्ती,
पर दोस्ती में प्यार कभी कम नही होता

हमनें कहा ऐ बारिश ज़रा थम के बरस,
जब मेरा दोस्त आ जाये तो जम के बरस,
पहले ना बरस की वो आ ना सके,
उसके आने के बाद इतना बरस की वो जा ना सके


दोस्ती एक कच्चे धागे की तरह होती है,
पर इस धागे से मज़बूत कोई ज़ंजीर नही होती है

अगर आपकी पलखो पे ख़्वाब रख जाएं कोई,
अगर आपकी सांसो पे नाम लिख जाएं कोई,
इस लिए ये वादा करो भूलोगे नही हमे,
अगर हमसे भी प्यारा दोस्त मिल जाएं कोई

दोस्ती को रौशनी की तरह बिखराओ,
दोस्ती को फूलो की तरह महकाओ,
हमे अपने दिल में बसाओ,
हमारी यादो को अपने दिल में सजाओ

काश दिल की आवाज़ में इतना असर हो जाए,
की हम जैसे याद करे उसको खबर हो जाए,
रब से यही दुआ है हमारी,
की जिसे आप चाहे वो आपका हमसफ़र हो जाए

ज़िन्दगी रहे ना रहे दोस्ती रहेगी,
पास रहो या दूर रहो यादे रहेगी,
अपनी ज़िंदगी मे हमेशा हँसते रहना,
क्योंकि तेरी हँसी में एक मुस्कान मेरी भी रहेगी


हर पल साथ निभाने का वादा करते हैं,
हर रास्ते पर साथ चलने का वादा करते हैं,
तू हमे बेशक भुला देना लेकिन,
हम हमेशा तुझे याद करने का वादा करते हैं

कोई कहता है दोस्ती नाश बन जाती है,
कोई कहता है दोस्ती सज़ा बन जाती है,
पर हम कहते है आपसे,
दोस्ती अगर सच्चे दिल से करो,
तो दोस्ती ही जीने की वजह बन जाती है

इस जमाने में रंग रूप देखा जाता है,
पर हम दिलो को देखना पसन्द करते हैं,
इस जमाने में सपने देखे जाते हैं,
पर हम हकीकत देखना पसन्द करते हैं,
इस जमाने में लोग एक सच्चा दोस्त ढूंढा करते हैं,
और हम दोस्तों में पूरा ज़माना ढूंढा करते हैं

ज़िक्र हुआ जब खुदा की रहमत का,
हमने खुद की खुशनसीब पाया,
तमन्ना थी एक प्यारे से दोस्त की,
खुदा खुद दोस्त बन के चला आया

प्यारा और सच्चा दोस्त एक फूल है,
अपना तो दोस्ती में एक उसूल है,
हम सच्चा दोस्त कभी खोया नही करते,
इसे कोई छीन ले तो हमे ये नही कुबूल है